livedosti.com

दीदी के साथ मेरी भी चुत का सील टूट गया – Desi Gangbang Sex stories

Amazing Gangbang story of husband, wife and her sister – दीदी के साथ मेरी भी चुत का सील टूट गया – Desi Gangbang Sex stories


मेरा नाम मोहिनि है और में आज आप सभी को अपने जीवन का एक सच और उससे जुड़ी एक सच्ची घटना सुनाने जा रही हूँ जिसने मेरे पूरे जीवन को बिल्कुल बदलकर रख दीए,

दोस्तों मेरी चुदाई होने से पहले मैंने कभी सपने में भी नहीं सोचा था कि मेरी चुदाई कौन करेगा? और फिर मेरी पहली चुदाई खत्म होने के बाद में सारी बातें सोचने लगी कि मैंने यह सब क्या किया?

दोस्तों मेरे फिगर का आकार 34-30-32 है और हर एक लड़की का सेक्सी होने का मन होता है, वो मन ही मन चाहती है कि हर किसी को वो अपनी तरफ अपना सेक्सी बदन दिखाकर आकर्षित कर ले और उसको अपना बनाने का मन होता है, ठीक वैसा ही मेरा भी मन था, में अपनी कॉलेज की दोस्तों के साथ रहकर सेक्स के बारे में बहुत सारी बातें समझ गई थी, लेकिन उस समय मेरी उम्र भी कुछ ज़्यादा नहीं थी.

मैं उस समय सिर्फ 19 साल की थी और में 19साल की उम्र से ही अपनी चुदाई करवाना चाहती थी, मेरी बुर के अंदर चुदाई करवाने की इच्छा और कुछ अजीब सा महसूस होने लगा था, लेकिन मुझे ऐसा कोई मिला नहीं मिला जिसका फायदा उठाकर में अपनी बुर की चुदाई करवाकर उसको शांत करूं और वो मज़े लूँ, लेकिन अभी कुछ दिन पहले मेरे साथ एक ऐसी घटना हुई जिससे मेरी पूरी जिंदगी बदल गई और अब आप सभी का ज़्यादा समय ना लेते हुए में सीधा उस कहानी पर आती हूँ और बताती हूँ कि मेरी चुदाई का वो सपना कैसे सच हुआ, मुझे कैसे लंड और किसका लंड मिला?

दोस्तों वो मेरी दीदी की शादी का दिन था और हमारे पूरे घर में ख़ुशी का माहोल था में भी बहुत खुश थी और फिर वो पल आ ही गया, मेरी दीदी की उस दिन शादी हो गई और विदाई के समय मेरी दीदी बहुत ज़ोर ज़ोर से रो रही थी.

वैसे तो घर के सभी सदस्य दुखी थे और उनके साथ साथ में भी रो रही थी, तभी कुछ देर बाद मुझसे मेरी मम्मी ने कहा कि तुम भी अपनी दीदी के साथ चली जाओ कुछ दिन रुकने के बाद हम लोग तुम दोनों के लेने आ जाएगें और तुम्हारे साथ रहने से इसका भी मन लगा रहेगा और फिर मैंने अपनी मम्मी को वो बात सुनकर बहुत खुश होकर जाने के लिए तुरंत हाँ कह दीए और जब में दीदी के ससुराल आई तो मुझे वहां पर बहुत मज़ा आया,

वहां पर सभी का व्यहवार बहुत अच्छा था और वो लोग बहुत प्यार से हंस हंसकर मुझसे बातें कर रहे थे, दोस्तों वो दिन तो ऐसे ही मज़े मस्ती में गुजर गया और उस रात को मेरी दीदी की सुहागरात थी, वैसे मुझे तो पहले से ही पता था कि आज दीदी की जमकर चुदाई होगी और उनकी बुर की सील भी जरुर टूटेगी और आज मेरी दीदी को ठीक तरह से पता चलेगा कि लंड क्या होता है और लोलीपॉप किसे कहते है?

उस रात को में अपनी दीदी की चुदाई के बारे में सोचकर बहुत ज्यादा जोश में आकर में खुद अपनी बुर में उंगली करके अपनी बुर को शांत करके थककर ना जाने कब सो गई और जब में दूसरे दिन सुबह उठी तो में सीधी बाथरूम में जाने के बाद सीधी दीदी के रूम में चली गई, मुझे पता चल गया कि कल रात की चुदाई से मेरी दीदी की बुर की सील टूट चुकी थी.